त्रिभुज का परिमाप का सूत्र – Tribhuj Ka Parimap

त्रिभुज का परिमाप तथा परिधि को त्रिभुज के बाहर चारों ओर की कुल दूरी के रूप में परिभाषित किया जाता है, जो ज्यामिति में एक मौलिक अवधारणा है। यह उन बुनियादी मापों में से एक है जो त्रिभुज के shape और size को समझने में हमारी मदद करता है। चलिए नीचे हम Tribhuj Ka Parimap बिस्तार से समझते हैं।

त्रिभुज का परिमाप (Tribhuj Ka Parimap)

त्रिभुज का परिमाप गणना करना इतना भी जटिल नहीं हैं। ऐसा समझिये अगर एक छोटी सी चींटी लगातार एक त्रिकोण के बाहरी किनारे पर चक्कर काट रहे हैं तो बह उस त्रिकोण की परिधि को हर बार पूरा कर रहे हैं। तो गणित के अनुसार त्रिभुज का परिमाप केवल वह कुल दूरी है जिसे पूरा करने के लिए आपको चलना पड़ता हैं!
एक त्रिभुज का परिमाप ज्ञात करने के लिए, हमें त्रिभुज की तीनों भुजाओं में से प्रत्येक की लंबाई को मापना होगा और फिर इन लंबाइयों को एक साथ जोड़ना होगा। अगर हम इसे एक बाक्य में समेटना चाहें तो, हम कह सकते हैं की त्रिभुज के बाहरी किनारे के चारों ओर की कुल दूरी को ही परिमाप तथा परिधि कहते हैं।

त्रिभुज का परिमाप का सूत्र

त्रिभुज का परिमाप का सूत्र है-

परिमाप (P) = भुजा A + भुजा B + भुजा CTribhuj Ka Parimap Sutra उदाहरण:

यदि एक त्रिभुज की भुजा की लंबाई 5 सेमी, दूसरी भुजा की लंबाई 7 सेमी और अंतिम भुजा की लंबाई 9 सेमी है, तो त्रिभुज की परिधि की गणना निम्नानुसार की जा सकती है:

परिमाप = 5 सेमी + 7 सेमी + 9 सेमी
परिमाप = 21 सेमी

अतः इस त्रिभुज का परिमाप 21 सेंटीमीटर है।

त्रिभुज के प्रकार के अनुसार भी बिभिन्न परीक्षाओं में Tribhuj Ka Parimap के ऊपर हमें प्रश्न देखने को मिलती हैं। तो आज इस लेख में हम प्रकार के अनुसार त्रिभुज का परिमाप का सूत्र को समझेंगे।

समबाहु त्रिभुज का परिमाप का सूत्र

समबाहु त्रिभुज एक प्रकार का त्रिभुज होता है जहाँ तीनों भुजाएँ समान लंबाई की होती हैं। एक समबाहु Tribhuj Ka Parimap ज्ञात करने के लिए, हमें बस तीनों भुजाओं की लंबाई को जोड़ना पड़ेगा।
अगर एक समबाहु त्रिभुज की एक भुजा की लंबाई ‘a’ है तो हम परिधि की गणना एक भुजा की लम्बाई को 3 से गुणा करके निकाल सकते हैं। ऐसा इसलिए, चूँकि एक समबाहु त्रिभुज की तीनों भुजाएँ समान लंबाई की होती हैं।

समबाहु त्रिभुज का परिमाप का सूत्र हैं-

परिधि (P) = 3a

समबाहु त्रिभुज का परिमापचलिए एक उदाहरण लेते हैं,

यदि एक समबाहु त्रिभुज की एक भुजा की लंबाई 5 सेमी है, तो त्रिभुज का परिमाप क्या होगा?

सूत्र = परिधि (P) = 3a

⇒ परिमाप = 3 x 5 सेमी
⇒ परिमाप = 15 सेमी

अर्थात, इस समबाहु त्रिभुज का परिमाप 15 सेंटीमीटर है।

समद्विबाहु त्रिभुज का परिमाप सूत्र

समद्विबाहु त्रिभुज एक ऐसा त्रिभुज होते हैं जिसकी दो भुजाएँ समान लंबाई की होती हैं, और एक भुजा जो अलग-अलग लंबाई की होती है। एक समद्विबाहु Tribhuj Ka Parimap ज्ञात करने के लिए, हमें पहले इसकी प्रत्येक भुजा की लंबाई मापनी होगी और इसके बाद उन्हें एक साथ जोड़ना होगा।
अब मान लीजिए कि एक समद्विबाहु त्रिभुज की दो बराबर भुजाओं की लंबाई ‘a’ है, और तीसरी भुजा की लंबाई ‘b’ है। अब हम यहाँ समद्विबाहु त्रिभुज का परिमाप सूत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं।

समद्विबाहु त्रिभुज का परिमाप सूत्र-

परिमाप (P)  = 2a + bसमद्विबाहु-त्रिभुज-का-परिमाप-का-सूत्रक्यूंकि समद्विबाहु त्रिभुज की दो भुजाएँ समान लंबाई की होती हैं, इसलिए उनकी संयुक्त लंबाई उस लंबाई की दोगुनी होती है।

हम एक उदाहरण लेके इसे बेहतर तरीके से समझते हैं,

यदि एक समद्विबाहु त्रिभुज की दो भुजाएँ 4 सेमी लंबी और तीसरी भुजा 6 सेमी लंबी है, तो त्रिभुज की परिमाप की गणना होगी:

सूत्र = परिमाप (P) = 2a + b

⇒ परिमाप = 2(4 सेमी) + 6 सेमी
⇒ परिमाप = 8 सेमी + 6 सेमी
⇒ परिमाप = 14 सेमी

अर्थात, इस समद्विबाहु त्रिभुज का परिमाप 14 सेंटीमीटर है।

इसे भी पढ़िए त्रिभुज किसे कहते हैं – परिभाषा, प्रकार, सूत्र

विषमबाहु त्रिभुज का परिमाप सूत्र

जो त्रिभुज के तीनों भुजाएँ अलग-अलग लंबाई की होती हैं, उसे हम बिषमबाहु त्रिभुज कहते हैं। विषमबाहु त्रिभुज का परिमाप ज्ञात करने के लिए, हमें इसकी प्रत्येक भुजा की लंबाई मापनी होगी और इसके बाद उन्हें एक साथ जोड़ना होगा।
अगर एक विषमबाहु त्रिभुज की लंबाई ‘a’, ‘b’ और ‘c’ है। तो सूत्र का उपयोग करके इसकी परिधि आसानी से हम निकाल सकते हैं:

विषमबाहु त्रिभुज का परिमाप सूत्र हैं-

परिमाप (P) = a + b + cविषमबाहु त्रिभुज का परिमापउदाहरण:

यदि एक विषमबाहु त्रिभुज की लंबाई 6 सेमी, 8 सेमी और 10 सेमी है, तो इसकी परिमाप का गणना कीजिये।

परिमाप (P) = a + b + c

⇒ परिमाप = 6 सेमी + 8 सेमी + 10 सेमी
⇒ परिमाप = 24 सेमी

अतः इस विषमबाहु त्रिभुज का परिमाप 24 सेंटीमीटर है।

समकोण त्रिभुज का परिमाप का सूत्र

समकोण त्रिभुज के परिमाप ज्ञात करने के लिए हमे बस इसकी लम्बाई को आपस में योग करना होगा।

समकोण त्रिभुज का परिमाप की गणना सूत्र का उपयोग करके की जा सकती है-

परिधि (P) = a + b + cसमकोण त्रिभुज का परिमापउदाहरण:

यदि एक समकोण त्रिभुज की लंबाई 3 सेमी, 4 सेमी और 5 सेमी है, जहां 5 सेमी कर्ण है, तो उस त्रिभुज की परिधि की गणना होगा:

परिधि (P) = a + b + c

परिमाप = 3 सेमी + 4 सेमी + 5 सेमी
परिमाप = 12 सेमी

न्यूनकोण त्रिभुज का परिमाप का सूत्र

जिस त्रिभुज के तीनों कोण तीब्र होते हैं उसे न्यूनकोण त्रिभुज कहलाता हैं। अर्थात वे 90 डिग्री से कम होते हैं।

न्यूनकोण त्रिभुज का परिमाप का सूत्र है-

परिधि (P) = a + b + c

अधिक कोण त्रिभुज का परिमाप का सूत्र

किसी अधिककोण त्रिभुज का परिमाप उसकी सभी भुजाओं के मापों का योग होता है।

अधिककोण त्रिभुज का परिमाप का सूत्र-

परिधि (P) = a + b + c

निष्कर्ष 

विद्यार्थीय मैंने इस लेख में Tribhuj Ka Parimap सूत्र सीखाने की कोशिश किया। इन सूत्रों में जो सबसे importants है उन्हें बेहतर तरीके से समझाया गया हैं। आशा करता हूँ, इसे आपलोगों की help हुई होगी। आप से आग्रह हैं, इसे आप अपने उन दोस्तों के साथ share करिये, जिन्हे इसकी जरूरत हैं। धन्यबाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!